आज 500 साल का इंतजार खत्म होगा… अयोध्या में होगी रामलला की प्राण प्रतिष्ठा… मनाई जाएगी दिवाली

0
25
Listen to this article

अयोध्या में प्रभु श्रीराम की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर देशभर में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। अयोध्या में रामलला के आगमन का इंतजार आज खत्म जाएगा। पीएम मोदी प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल होंगे। आज (22 जनवरी) होने वाले राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। पूरी राम नगरी को आध्यात्मिक रंग देकर सजाया गया है। मंदिर परिसर की छटा देखती ही बनती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को ही रामनगरी पहुंच गए। यहां उन्होंने 22 जनवरी की प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियों का फाइनल निरीक्षण किया और अयोध्या की व्यवस्थाओं का भी जायजा लिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामलला व हनुमानगढ़ी के दर्शन पूजन किये।

प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले राम मंदिर में पूजा अनुष्ठानों की झलकियां देखने को मिली है। प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान में आज स्थापित देवताओं का दैनिक पूजन, हवन, पारायण आदि कार्य, सुबह मध्वाधिनास, मूर्ति का 114 कलशों के विविध औषधीयुक्त जल से स्नपन, महापूजा, उत्सवमूर्ति की प्रासादपरिक्रमा, शय्याधिनास, तत्त्वन्यास, महान्यास आदिन्यास, शान्तिक-पौष्टिक – अघोर होम, व्याहृति होम, रात्रिजागरण, सायंपूजन एवं आरती हुई। रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होते ही 22 जनवरी, 2024 इतिहास में दर्ज हो जाएगी। अयोध्या में जय-जय राम, जय सियाराम की गूंज विराम लगाएगी…मिहिर कुल, सालार मसूद, बाबर, औरंगजेब जैसे आक्रांताओं के सनातन आस्था पर हमलों और अंग्रेजों की कूटनीति से इस मुद्दे पर हिंदुओं और मुसलमानों के बीच संघर्ष पर। मरहम लगाएगी इन हमलों से मिले घावों पर। सैकड़ों साल के संघर्ष से शांति मिलेगी अयोध्या को। इस अद्भुत, अद्वितीय, अलौकिक अनुष्ठान के सशरीर गवाह बनने वालों के साथ इसे देखने और इसके अनुष्ठानों से जुड़ने वाले सांस्कृतिक अनुष्ठान के संदेशवाहक बनेंगे।

प्राण-प्रतिष्ठा समारोह पूर्ण होने के उपरांत ‘राम ज्योति’ प्रज्ज्वलित कर दीपावली मनाई जाएगी। शाम को अयोध्या 10 लाख दीपों से जगमगाएगी। इसके साथ ही मकानों, दुकानों, प्रतिष्ठानों और पौराणिक स्थलों पर ‘राम ज्योति’ प्रज्ज्वलित की जाएगी। अयोध्या सरयू नदी के तटों की मिट्टी से बने दीपों से रोशन होगी। रामलला, कनक भवन, हनुमानगढ़ी, गुप्तारघाट, सरयू तट, लता मंगेशकर चौक, मणिराम दास छावनी समेत 100 मंदिरों, प्रमुख चौराहों और सार्वजनिक स्थलों पर दीप प्रज्ज्वलित किए जाएंगे।

श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि प्राण प्रतिष्ठा का पूरा कार्यक्रम दोपहर एक बजे तक पूरा हो जाएगा। सभी पूजा-विधि समाप्त होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, संघ प्रमुख मोहन भागवत संदेश देंगे। वहीं श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास आशीर्वाद देंगे।

देश में उत्सव-सा माहौल है। लोगों में उल्लास है। मॉरीशस और नेपाल में अनुष्ठान हो रहे हैं। विदेश में रहने वाले भारतवंशियों ने पूजन व भोग सामग्री भेजी है, वह दुनियाभर के सनातनियों और सनातन संस्कृति को समझने वाले के राम के सरोकारों से जुड़े होने का प्रतीक है। दुनियाभर में हो रहे अनुष्ठान त्रेता युग के राम की उत्तर से दक्षिण को जोड़ने की शक्ति बताने को पर्याप्त हैं। जातियों के खांचों से निकालकर राष्ट्र की पहचान से जोड़ने की क्षमता का प्रतीक हैं।

देवभूमि उत्तराखंड में विभिन्न स्थानों पर अयोध्या में होने वाले समारोह का सजीव प्रसारण दिखाने की व्यवस्था है। देहरादून में टपकेश्वर स्थित महादेव मंदिर में 21 हजार दीप प्रज्वलित किए जाएंगे। देहरादून के परेड मैदान और हरिद्वार स्थित हर की पैड़ी में मां गंगा के तट को भी दीयों से रोशन किया जाएगा। शीतकालीन गद्दीस्थलों में भी दीपोत्सव का आयोजन किया जाएगा। नैनीताल के नयनादेवी मंदिर में भजन-कीर्तन होंगे। पिथौरागढ़ के रामलीला मैदान में 5001 दीप जलेंगे। चंपावत जिले के शारदा घाट में गंगा आरती व दीपोत्सव का भव्य आयोजन होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here