मुंह में दिख रहे हैं ये लक्षण तो समझ लें हो गए माउथ कैंसर के शिकार

0
23
Listen to this article

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है और ये किसी को भी अपना शिकार बना सकती है. इसके कई प्रकार होते हैं. इन्हीं में से एक है मुंह का कैंसर. मुंह का कैंसर (मुंह का कैंसर) सिर और गर्दन के कैंसर का सबसे आम रूप है.

भारत में ओरल कैंसर या मुंह का कैंसर सबसे आम कैंसर में से एक है. यह आमतौर पर 60 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों को प्रभावित करता है. मुंह का कैंसर आपके होठों और आपकी जीभ के आगे वाले भाग, मुंह को अंदर से प्रभावित करता है.

यह आपके ऑरोफरीनक्स को भी प्रभावित करता है. अक्सर मुंह के कैंसर का पता प्रारंभिक अवस्था में ही पता नहीं चल पाता है. ऐसे में कुछ संकेतों को देख हमें सचेत हो जाना चाहिए. आइए जानते हैं माउथ कैंसर के कुछ लक्षणों के बारे में.

ओरल कैंसर क्या है

मुंह की कोशिकाओं में अनियंत्रित रूप से विकास होने पर मुंह के कैंसर की शुरुआत होती है. मुंह के भीतर मौजूद किसी भी पार्ट में कैंसर कोशिकाएं बढ़ सकती हैं. मुंह में कैंसर की शुरुआत ट्यूमर की वजह से होती है. जब ट्यूमर जीभ, गालों के भीतरी हिस्से और होंठ या मसूड़ों पर होने लगता है. इस स्थिति में आपको कैंसर की गांठ भी दिख सकती है.

ओरल कैंसर (मुंह का कैंसर) कैंसर के लिए व्यापक शब्द है जो आपके मुंह के अंदर के क्षेत्र को प्रभावित करता है. मुंह का कैंसर आपके होठों या मुंह में एक आम समस्या की तरह दिख सकता है, जैसे सफेद धब्बे या घाव जिनमें से खून निकलता है. इ

लाज न किए जाने पर ओरल कैंसर आपके मुंह और गले से होते हुए आपके सिर और गर्दन के अन्य क्षेत्रों तक फैल सकता है. ओरल कैंसर से पीड़ित लगभग 63% लोग निदान के पांच साल बाद भी जीवित रहते हैं.

मुंह के कैंसर से कौन प्रभावित हो सकता है

कुछ रिसर्चों की मानें तो 100,000 में से लगभग 11 लोगों को अपने जीवनकाल के दौरान मौखिक कैंसर होता है. महिलाओं की तुलना में पुरुषों में मुंह का कैंसर होने की संभावना अधिक होती है. जो लोग गोरे होते हैं उनमें काले लोगों की तुलना में मुंह का कैंसर होने की संभावना अधिक होती है.

माउथ कैंसर के लक्षण

गर्दन में गांठ

दांतों का गिरना

होंठ पर सूजन या घाव जो लंबे समय से ठीक नहीं हो रहे

निगलने में कठिनाई या दर्द होना

वाणी में परिवर्तन

मुंह में खून आना या सुन्न होना

मुंह, जीभ या मसूड़ों पर सफेद या लाल धब्बे

अचानक वजन घटना

गले में लंबे समय से खराश

कान का दर्द

सांसों की लगातार दुर्गंध

मुंह के कैंसर के कारण

अधिकांश मुंह के कैंसर के लिए मुख्य जोखिम कारक तम्बाकू और शराब का सेवन है. अन्य जोखिम कारकों में शामिल हो सकते हैं-

ह्यूमन पेपिलोमावायरस (एचपीवी)

एपस्टीन-बार वायरस (ईबीवी)

मुंह के कैंसर का पारिवारिक इतिहास

खराब ओरल हाइजीन और मसूड़ों की बीमारी

सूर्य के संपर्क में अधिक आना

मुंह में चोट

धूम्रपान, तंबाकू का सेवन और शराब पीने के कारण

नियमित रूप से अत्यधिक मात्रा में शराब का सेवन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here