उत्तराखंड: एक बार फिर रिश्ते हुए शर्मसार, देवर संग मिलकर पत्नी ने पति को उतारा मौत के घाट, वजह जानकर रह जायेंगे हैरान

0
169
Listen to this article

कोटद्वार: आपने भी कई ऐसी खबरें और सुनीं होंगी, लेकिन जब घर में ही किसी से अवैध संबंध बन जाय तो इसका अंजाम और खतरनाक हो जाता है। खबर पौड़ी गढ़वाल जिले के कोटद्वार से है। जहां नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत काशीरामपुर मल्ला निवासी एक महिला ने अवैध संबंधों में रोड़ा बन रहे पति को अपने देवर के साथ मिलकर मौत के घाट उतार दिया। जिसके बाद पुलिस ने मृतक के भाई को गिरफ्तार कर दिया है, जबकि उसकी पत्नी फरार हो गई। फिलहाल पुलिस आरोप महिला की तलाश में जुटी है।

जानकारी के अनुसार मोहल्ला काशीरामपुर मल्ला निवासी 38 वर्षीय रिंकू पेंटर का कार्य करता था। बताया जा रहा है कि वह चार साल से मोहल्ला काशीरामपुर मल्ला में अपने छोटे भाई ओमकुमार, पत्नी दीक्षा व दो बच्चों के साथ किराये के कमरे में रहता था। रिंकू की पत्नी पिछले कुछ दिनों से दोनों बच्चों को लेकर अपने मायके जिला बिजनौर ग्राम परमावाला टांडा माइदास गई हुई थी।

बताया जा रहा है कि सोमवार को वह अपने देवर ओमकुमार के साथ कमरे में आयी, जहां उसका रिंकू के साथ झगड़ा हो गया। इसके बाद शाम को ओमकुमार व दीक्षा कमरे में ताला लगाकर चले गए। आसपास के लोगों ने उन्हें जाते हुए देख लिया। कमरे में ताला लगा होने के बावजूद रात को कूलर चलता देखा तो उन्हें शक हो गया और उन्होंने ओमकुमार को फोन कर कूलर बंद करने को कहा। पहले तो ओमकुमार टालमटोल करता रहा, लेकिन बाद में वह कमरे में आ गया। तभी पड़ोसी ओमकुमार के साथ कमरे के अंदर पहुंचे, बिस्तर पर रिंकू का शव पड़ा था। इस पर उन्होंने घटना की सूचना रिंकू के पिता जिला बिजनौर के नहटौर थाना क्षेत्र के ग्राम खेडी नट निवासी दयाराम के साथ ही पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में ले लिया। साथ ही ओमकुमार को भी हिरासत में ले लिया।

मंगलवार दयाराम ने दीक्षा व ओमकुमार पर अपने पुत्र की हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी। कोतवाली प्रभारी विजय सिंह ने बताया कि दी गई तहरीर के आधार पर पुलिस ने दोनों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस पूछताछ में ओमकुमार ने बताया कि करीब ढाई माह पूर्व ओमकुमार व दीक्षा के बीच अवैध संबंध बन गए, जिसके बाद दीक्षा व रिंकू में विवाद बढऩे लगा व दीक्षा अपने मायके चली गई। सोमवार को जब वह वापस आई तो दीक्षा व रिंकू में फिर से झगड़ा हुआ। कोतवाली प्रभारी ने बताया कि झगड़े के दौरान रिंकू ने ओमकुमार को लात मारी। लेकिन, ओमकुमार ने उसका पैर पकड़ दिया और वह जमीन पर गिर पड़ा। ओमकुमार के अनुसार जमीन पर गिरकर रिंकू बेहोश हो गया व दीक्षा ने बेहोश रिंकू के मुंह पर तकिया रखकर उसकी हत्या कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here