उत्तराखंड में बारिश का कहर, 72 साल पुरानी सुरंग ध्वस्त, अलकनंदा में डूबी शिव मूर्ति

0
25

रुद्रप्रयाग: गुरुवार रात से बारिश आफत बनकर बरस रही है. बारिश के कारण रुद्रप्रयाग में केदारनाथ हाईवे पर स्थित सुरंग का ऊपरी हिस्सा ढह गया है. सुरंग के बीच में एक बड़ा छेद भी हो गया. फिलहाल इस रास्ते केदारनाथ धाम जाने वाले वाहनों की आवाजाही बंद की गई है. यात्री बाईपास मोटरमार्ग से केदारनाथ के लिए आवाजाही कर रहे हैं.

केदारनाथ हाईवे के रुद्रप्रयाग संगम स्थित 60 मीटर लम्बी सुरंग बंद हो चुकी है. पहाड़ी से मलबा और बोल्डर गिरने के कारण सुरंग में सुराख हो गया है. भारी मात्रा में मलबा सुरंग के भीतर आ गया है. इस कारण स्थानीय लोगों एवं तीर्थ यात्रियों को 5 किमी की अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ेगी. सुरंग को खोलने का कार्य भी शुरू हो गया है. वर्ष 1952 में जिला मुख्यालय से केदारघाटी को यातायात सुविधा से जोड़ने के लिए इस टनल का निर्माण किया गया था.

रुद्रप्रयाग जिले में लगातार बारिश हो रही है. बारिश के बीच केदारनाथ यात्रा चल रही है. धाम में भी रुक रुक कर बारिश हो रही है. वहीं बदरीनाथ क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश के चलते अलकनंदा नदी का जलस्तर काफी बढ़ गया है. नदी खतरे के निशान तक पहुंच गई है. नदी से सटे आवासीय भवनों को खतरा पैदा हो गया है. बेलनी पुल के नीचे स्थित शिव की मूर्ति भी जलमग्न हो चुकी है. उफान पर बह रही अलकनंदा नदी में कूड़ा कचरा और बड़े बड़े पेड़ बहकर आ रहे हैं.

भारी बारिश को लेकर इधर कुमाऊं के सभी जिलों में अलर्ट जा रही है, नैनीताल बागेश्वर सहित अधिकांश ज़िलों में स्कूलों की छुट्टी घोषित की हुई है, हल्द्वानी और उसके आसपास के इलाकों में सुबह से ही तेज बारिश का प्रकोप है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here